राजस्थान बेरोजगारी भत्ता | पात्रता, राशि व ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना | rajasthan berojgari bhatta

राजस्थान सरकार ने अपने घोषणापत्र पर अमल करते हुए बेरोजगारी भत्ता योजना की शुरुआत कर दी है। बड़ी संख्या में बेरोजगार युवाओं और युवतियों, दोनों को इस योजना का फायदा मिल रहा है। खास बात यह है कि बेरोजगार युवाओं की तुलना में युवतियों को ज्यादा भत्ता मिलेगा। सरकार बेरोजगारों के लिए रोजगार के अवसर भी प्रदान कर रही है, जिसके तहत कई दूसरी योजनाओं की शुरुआत भी की गई है। इस आर्टिकल में राजस्थान बेरोजगारी भत्ता के बारे में बताया जा रहा है। योजना के लिए पात्रता, आवेदन करने के तरीके का जिक्र भी किया जा रहा है।

कब शुरुआत हुई

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलौत ने विधानसभा चुनाव के दौरान एलान किया था, कि अगर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी तो युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा था कि कांग्रेस पिछली सरकार की तुलना में ज्यादा भत्ता देगी। घोषणापत्र में भी इसका एलान किया गया था। विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत दर्ज करने के बाद कांग्रेस ने प्रदेश के अंदर इस योजना को अमलीजामा पहना दिया है। लोगों को इस योजना का फायदा मिलने लगा है।

भत्ते में कितनी राशि दी जायेगी

राजस्थान सरकार बेरोजगारी भत्ता योजना के तहत बेरोजगार युवाओं और बालिकाओं, दोनों को भत्ता दे रही है। युवाओं को भत्ते के रूप में हर महीने तीन हजार रुपये दिए जा रहे हैं, जबकि बालिकाओं के लिए भत्ते के रूप में हर महीने साढ़े तीन हजार रुपये की व्यवस्था की गई है। बेरोजगारों युवतियों को इस तरह पुरुषों की तुलना में 500 रुपये ज्यादा मिल रहे हैं, जिसे बेटियों को मजबूत करने के रूप में देखा जा रहा है।

बैंकों में ट्रांसफर होंगे पैसे

राजस्थान सरकार ने साफ कर दिया है कि योजना का फायदा उन्हीं युवाओं और युवतियों को मिल रहा है, जिनके पास किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंकों में खाता नंबर है। डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर यानी डीबीटी योजना के तहत भत्ते की रकम सीधे बैंकों में भेजी जा रही है। इसलिए युवाओं को चाहिए कि वे अपना खाता किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक में जल्द से जल्द खुलवा लें।

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना के लिए पात्रता

  • राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई बेरोजगारी भत्ता योजना का लाभ सिर्फ उन्हें लोगों को मिल रहा है, जो 12वीं कक्षा पास कर चुके हैं।
  • ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन कर रहे छात्र-छात्राओं को भी बेरोजगारी भत्ता दिया जा रहा है।
  • बेरोजगारी भत्ता उन छात्र-छात्राओं को ही मिल रहा है, जो बेरोजगार हैं। रोजगार दफ्तर में उनका पंजीकरण है।
  • योजना का लाभ वही लोग उठा सकते हैं, जिनकी उम्र 21 से 35 साल के बीच है। तकनीकी पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों को भी भत्ता दिया जा रहा है।

प्रदेश का निवासी होना जरूरी

  • बेरोजगारी भत्ता योजना का लाभ उन्हीं युवाओं और युवतियों को मिल सकता है, जो मूल रूप से राजस्थान के रहने वाले हैं।
  • दूसरे किसी भी प्रदेश के युवा और युवती राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना का फायदा हासिल नहीं कर सकते हैं।
  • इस योजना का लाभ उन्हीं छात्र-छात्राओं को मिलेगा, जिनके परिवार की सालाना आय तीन लाख से कम है।
  • तीन लाख से ज्यादा आय वालों को इसका लाभ नहीं मिल पाएगा। बेरोजगारों के लिए आय प्रमाणपत्र दिखाना जरूरी है।

एक लाख 60 हजार युवाओं को फायदा

  • राजस्थार सरकार ने बेरोजगारी भत्ता योजना के तहत करीब एक लाख 60 हजार बेरोजगार युवाओं और युवतियों को शामिल किया है।
  • शुरुआती फेज के बाद राजस्थान में बेरोजगारी भत्ता हासिल कर रहे बेरोजगारों की संख्या दोगुनी हो सकती है।
  • योजना के तहत बेरोजगार पुरुषों को भत्ते के रूप में हर महीने तीन हजार और महिलाओं को साढ़े तीन हजार रुपये दिए जा रहे हैं।
  • कांग्रेस सरकार बेरोजगारी भत्ता योजना के लिए अलग-अलग मदों में करीब 600 करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है।

पिछली सरकार में मिलते थे 600

  • पिछली यानी भारतीय जनता पार्टी की सकरार में बालिकाओं को सिर्फ 600 रुपये दिए जाते थे। कांग्रेस सरकार में इसमें छह गुना का इजाफा किया गया है।
  • इसी तरह वसुंधरा राजे सरकार में युवाओं को भत्ते के रूप में हर महीने 750 रुपये दिए जाते थे। इसमें भी करीब पांच गुना की बढ़ोतरी की गई है।
  • योजना के तहत प्रदेश में करीब 11 लाख बेरोजगारों का पंजीकरण है। शुरू में तकरीबन एक लाख बेरोजगारों को भत्ता दिया जाएगा। बाद में यह संख्या बढ़ेगी।

योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  • वोटर आईडी कार्ड
  • आय प्रमाणपत्र
  • राशन कार्ड की कॉपी
  • भामाशाह आईडी
  • परीक्षाओं के प्रमाणपत्र
  • मोबाइल नंबर
  • ई-मेल आईडी
  • परीक्षाओं के अंक पत्र

Rajasthan Berojgari Bhatta के लिए कैसे करें ऑनलाइन आवेदन

  • बेरोजगारी भत्ते के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। आवेदन के लिए सरकार की ऑफीशियल वेबसाइट sso.rajasthan.gov.in पर विजिट करना होगा।
  • ऑनलाइन आवेदन के लिए युवा या युवतियां visit here पर लॉग इन कर सकते हैं। यहां आपको बेरोजगारी भत्ता का होमपेज दिख जाएगा।
  • आवेदक इसके बाद रजिस्ट्रेशन ऑप्शन पर क्लिक करें। भामाशाह आईडी, फेसबुक, गूगल आईडी, ट्वीटर आईडी से भी रजिस्टर किया जा सकता है।
  • जिसका नाम चुनना है, उसका चयन कर लें। नाम का चयन करते ही भामाशाह आईडी से जुड़े मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आएगा।

ओटीपी नंबर देखें

  • एसएमएस के जरिए ओटीपी नंबर भेजा गाएा, जिसे डालकर नेक्स्ट ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद यूजर नेम और ओटीपी पासवर्ड से लॉग इन करना होगा। बेरोजगारी भत्ता राजस्थान का कॉलम दिखेगा, जिसपर क्लिक करना होगा।
  • फार्म खुलने के बाद इसपर सभी जरूरी जानकारी दर्ज करें। नाम, पिता का नाम, गांव, तहसील, गांव, जिला और प्रदेश का नाम लिखें।
  • सभी कॉलम भरने के बाद जरूरी दस्तावेजों को अपलोड करें। पासपोर्ट साइज फोटो और दस्तावेजों को इसके बाद फार्म के साथ अटैच करें।
  • इसके बाद सबमिट ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं। आवेदन पूरा हो जाएगा। इसे सेव भी कर सकते हैं। प्रिंटआउट भी निकाल सकते हैं।

पंजीकृत युवाओं की संख्या बढ़ रही

राजस्थान में बेरोजगार युवाओं की संख्या करीब 11 लाख है। रोजगार दफ्तर में सभी रजिस्ट्रेशन है। सरकार ने फिलहाल एक लाख बेरोजगार युवाओं और बालिकाओं को इस योजना में शामिल किया है। संबंधित विभाग के अधिकारियों के अनुसार पहले चरण में एक लाख लोगों को भत्ता दिया जाएगा। दूसरे चरण में संख्या में इजाफा किया जा सकता है।

Anand Sivastava