प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता योजना 2020 | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन {फॉर्म डाउनलोड} की जानकारी

प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना

प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना आपको चूना लगा सकती है। अगर इसके फेर में पड़े तो हजारों रुपये की चपत लग सकती है। आपका बैंक अकाउंट खाली हो सकता है। यही नहीं, कई अहम जानकारियां भी लीक हो सकती हैं। अगर ऐसा हुआ तो आप बड़ी परेशानी में पड़ जाएंगे। इसकी वजह यह है कि प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना के नाम से कोई स्कीम नहीं चल रही है। यह सिर्फ सोशल मीडिया की देन है। जालसाज इस तरह का मैसेज फैलाकर लोगों को चूना लगाना चाहते हैं। इस आर्टिकल में इससे जुड़े सभी पहलुओं को विस्तार के साथ साझा किया जा रहा है। खबर को अंत तक पढ़ें।

मैसेजिंग ऐप पर शेयर किए जा रहे लिंक

सोशल मैसेजिंग ऐप पर प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना 2020 के नाम से एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें योजना से जुड़े लिंक को भी शेयर किया जा रहा है। मैसेज के जरिए बताया जा रहा है कि इस योजना के तहत देशभर के बेरोजगार युवाओं को भत्ता दिया जाएगा। महिलाओं को भी इसमें शामिल किया गया है। खास बात यह है कि प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना की डिटेलिंग इतने शातिराना अंदाज में की गई है कि कोई भी व्यक्ति इसमें फंस सकता है।

भत्ते के रूप में मिलेंगे 3500 रुपये

मैसेज के जरिए एक फर्जी नोटिफिकेशन जारी किया गया है, जिसमें बेरोजगार युवाओं को हर महीने 3500 रुपये दिए जाने की बात लिखी है। इसमें पंजीकरण की अंतिम तिथि का भी जिक्र किया गया है। लोगों से कहा जा रहा है कि वे 15 जनवरी, 2020 तक इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। पंजीकरण के लिए pradhanmantri-berozgaari-bhattaa-yojna लिंक, जो कि पूरी तरह से फर्जी है, पर क्लिक करने को कहा जा रहा है।

 उम्र भी तय की गई है

प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना के लिए फर्जी आवेदन फार्म जारी किया गया है, जिसमें पात्रता तय की गई है। बताया जा रहा है कि 18-40 साल के पुरुष और महिलाएं इस योजना के तहत आवेदन कर सकती हैं। उन्हें जल्द ही रजिस्ट्रेशन करने की नसीहत की गई है। इसी तरह पारिवारिक सालाना आय, शैक्षणिक योग्यता आदि फर्जी नियम के बारे में बताया गया है, ताकि लोग इसमें आसानी से फंस सकें।

फर्जी है लिंक

संबंधित विभागों के उच्च अधिकारियों से जब इस मसले पर बात की गई तो उन्होंने प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने बताया कि सरकार की तरफ से इस तरह कोई योजना संचालित नहीं की जा रही है। लोग इसके चक्कर में न आए, इसके लिए मीडिया को भी अवगत कराया गया है। विज्ञप्ति जारी कर कहा गया है कि युवा सोशल मैसेजिंग पर मौजूद लिंक पर क्लिक न करें।

खाली हो जाएगा बैंक अकाउंट

सोशल मैसेजिंग ऐप पर प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना के नाम से मौजूद लिंक पर लोगों से उनके आधार नंबर, बैंक अकाउंट, ई-मेल, पैन कार्ड, मोबाइल नंबर मांगे जा रहे हैं। इस तरह की अहम जानकारी लीक होने के मतलब है कि आपको हजारों रुपये की चपत लग सकती है। बैंक अकाउंट नंबर मिल जाने के बाद शातिर आपके खाते से बड़ी रकम उड़ा ले जाएंगे। पैसे के नुकसान के अलावा आप किसी तरह के बड़े खतरे में भी पड़ सकते हैं।   

बड़ा गैंग काम कर रहा है

प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना के नाम पर कोई बड़ा गैंग काम कर रहा है। साइबर क्राइम को इसकी जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। माना जा रहा है कि बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जिन्होंने जल्दी में आकर इस लिंक पर क्लिक कर दिया है। जरूरी जानकारी को भी साझा किया गया है, जिसकी वजह से उन्हें नुकसान उठाना पड़ा है। फिलहाल आपके लिए जरूरी है कि इस तरह के लिंक से सावधान रहें। किसी भी योजना के लिए आवेदन करने से पहले संबंधित विभाग में इसकी पड़ताल जरूर कर लें।

Anand Sivastava