प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना (PMSVY) | ऑनलाइन फॉर्म डाउनलोड (True OR False)

प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना क्या है

प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना की हकीकत क्या है, क्या वाकई इस तरह की योजना सरकार द्वारा संचालित की जा रही है? इसकी पड़ताल करने के बाद यह न्यूज फेक साबित हुई है। जबकि ऐसी ढेर सारी वेबसाइट और न्यूज पोर्टल हैं, जहां इस योजना के बारे में बढ़ा चढ़ाकर लिखा जा रहा है। इस आर्टिकल में योजना से जुड़े हर पहलु को साझा किया जा रहा है । आपको बताया जा रहा है कि सरकार ने किस तरह इस योजना को पूरी तरह से जाली घोषित किया है।

PMSVY लाभ की रकम पर ही सवाल क्यों

प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना के तहत आर्थिक सहायता प्रदान करने की बात कही गई है, जिसके लिए पांच लाख रुपये तक दिए जाने का जिक्र है। सरकार की फिलहाल ऐसी कोई भी योजना नहीं है, जिसमें इतने बड़े पैमाने पर लोगों को लाभांवित किया जार रहा है। लोगों को खुद भी समझ लेना चाहिए कि यह योजना पूरी तरह से फेक है। नीचे योजना की डिटेलिंग की गई है। इसका मकसद आपको जागरूक करने है। यह बताना है कि किस तरह ढेर सारे पोर्टल पर इसे सही मानकर लिखा गया है।  

PMSVY का आईडी और पासवर्ड शेयर न करें

प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना के तहत अगर कोई एजेंट आपसे संपर्क करना चाहता है तो उसे मना कर सकते हैं। किसी तरह की आईडी तो बिल्कुल भी न दें। बैंक अकाउंट नंबर और आधार नंबर वगैरह शेयर करने की वजह से आपको लाखों रुपये की चपत लग सकती है। सरकार ने साफ कर दिया है कि इस तरह की कोई भी योजना उसक तरफ से संचालित नहीं की जा रही है। मीडिया ने भी इसे कवरेज नहीं दिया है।

प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना से लाभ

  • प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना के तहत बच्चों को कक्षा छह में प्रवेश करने पर तीन हजार रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी।
  • इसी तरह कक्षा आठ में प्रवेश करने पर छात्र-छात्राओं को आर्थिक सहायता के रूप में तीन हजार रुपये दिए जाएंगे।
  • कक्षा 10 में प्रवेश करने पर सात हजार और कक्षा 12 में प्रवेश करने पर आठ हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

शिशु शिक्षा योजना से उच्च शिक्षा के लिए पांच लाख रुपये मिल सकते हैं

  • प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना के तहत छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • 21 साल की उम्र पूरी होने पर रोजगार के लिए युवाओं को दो लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी।
  • योजना की खास बात यह है कि इसके तहत छात्र-छात्राओं को ढाई लाख रुपये के बीमा कवर के दायरे में लाया जाएगा।

प्रधान मंत्री शिशु विकास योजना के लिए पात्रत

  • केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना की लिए पूरी गाइडलाइंस तैयार की है। पात्रता भी तय की गई है।
  • योजना का लाभ वही छात्र-छात्राएं हासिल कर सकती हैं, जिनके परिवार की सालाना आय पांच लाख रुपये से कम है।
  •  स्कूल में कक्षा छह में प्रवेश कर चुके छात्र और छात्राएं इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। कक्षा 12 तक के छात्र इसके लिए योग्य हैं।
  • उच्च शिक्षा के लिए भी आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके लिए मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज में दाखिला लेना होगा।

Pradhan Mantri Shishu Vikas Yojana Online Registration

  • केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना का लाभ हासिल करने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है।
  • इच्छुक विद्यार्थी इसके लिए सरकार की ऑफीशियल वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं। होम पेज पर एप्लीकेशन फार्म मौजूद है।
  • विद्यार्थियों को फार्म पर सभी जरूरी जानकारी दर्ज करना होगा। अपना नाम, माता-पिता का नाम, जिला और प्रदेश का नाम लिखना होगा।
  • स्कूल और कॉलेज का नाम भी लिखना होगा। जन्म स्थान, जन्मतिथि, परिवार की सालाना आय आदि के बारे में लिखना होगा।

फॉर्म भरने का तरीका

  • फार्म पर सभी जरूरी जानकारी दर्ज करने के बाद सभी जरूरी दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • शैक्षणिक प्रमाणपत्र, सालाना आय प्रमाणपत्र, आधार कार्ड, पासपोर्ट साइज फोटो और हस्ताक्षर को भी अपलोड करें।
  • सभी जरूरी दस्तावेजों को अपलोड करने के बाद उन्हें एप्लीकेशन फार्म के साथ अटैच कर सकते हैं।
  • अटैच करने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर दें। आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। इसका प्रिंट आउट निकाल सकते हैं।

प्रधान मंत्री शिशु विकास योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • आय प्रमाणपत्र
  • मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाणपत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो

स्वास्थ्य के लिए इस योजना से ढाई लाख की व्यवस्था

प्रधानमंत्री शिशु विकास योजना के तहत न सिर्फ शिक्षा, बल्कि बच्चों के स्वास्थ्य की फिक्र भी की गई है। सरकार ने बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए ढाई लाख रुपये का इंतजाम किया है। यानी योजना के दायरे में आने वाले बच्चों को ढाई लाख रुपये का हेल्थ कवर दिया जाएगा। इसके तहत गंभीर बीमारी के इलाज की व्यवस्था की गई है।

Anand Sivastava

Leave a Reply