www.fasalhry.in | मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन {ई पंजीकरण}

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल

हरियाणा सरकार किसानों के लिए बेहतर काम कर रही है। इस कड़ी में “मेरी फसल मेरा ब्योरा” नाम से पोर्टल लांच किया गया है। पोर्टल पर फसल, खेती के लिए जमीन, ऋण, मंडी आदि से जुड़ी जानकारी दर्ज की गई है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद किसान घर बैठे जानकारी हासिल कर सकते हैं। इस आर्टिकल में पोर्टल के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है। आपको मेरी फसल मेरा ब्यौरा के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने का तरीका भी बताया जाएगा। आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना का संचालन

हरियाणा सरकार ने “मेरी फसल मेरा ब्योरा” पोर्टल लांच किया है। पोर्टल को सफलतापूर्वक संचालित करने की जिम्मेदारी किसान और कृषि किसान मंत्रालय को सौंपी गई है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पोर्टल को लांच करने के बाद कहा कि राज्य के किसान इससे लाभांवित होंगे। इसका मकसद किसान और खेतों को पंजीकृत करना है, जिसके लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के लाभ

  • “मेरी फसल मेरा ब्योरा” पोर्टल पर आने वाली सूचनाओं को कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के साथ शेयर किया जाएगा।
  • जमाबंदी से जुड़े डाटा को पटवारियों द्वारा साझा किया जाएगा। किसानों को इसकी वजह से फसलों की खरीद-फरोख्त में आसान होगी।
  • हरियाणा सरकार सामान्य सेवा केंद्रों को इसके एवज में 5 रुपये प्रति खेवट की दर से भुगतान करेगी। सामान्य सेवा केंद्रों के वीएलई को आदेश दिए गए हैं।
  • किसानों की निशुल्क मदद की जाएगी। किसान इस पोर्टल पर अपनी फसल का पूरा विवरण दर्ज कर सकते हैं।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा में मुआवजा भी मिलेगा

  • “मेरी फसल मेरा ब्योरा” पोर्टल के जरिए किसानों को मुआवजा दिया जाएगा। प्राकृतिक आपदा के कारण हुई फसल की क्षति के लिए भुगतान किया जाएगा।
  • किसानों को विभिन्न योजनाओं के तहत वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाएगी। इसकी डिटेलिंग की गई है।
  • खाद्य, बीज और कृषि उपकरणों की खरीद पर सब्सिडी की व्यवस्था है। किसानों को इसके लिए ऋण भी दिया जा सकता है।
  • पोर्टल पर खेतों में बिजाई-कटाई का समय और मंडी संबंधित जानकारी को भी अपडेट किया जाएगा।

www.fasalhry.in पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करें

  • “मेरी फसल मेरा ब्योरा” पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए हरियाणा सरकार की ऑफीशियल वेबसाइट www.fasalhry.in पर विजिट करना होगा।
  • वेबसाइट पर विजिट करने के बाद होम पेज पर मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल का लिंक दिखाई पड़ेगा, जिसपर क्लिक करना होगा।
  • यहां एक खाली बॉक्स नजर आएगा, जिसपर मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। मोबाइल पर ओटीपी आएगा, जिसे अगले पेज पर दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फार्म ओपन हो जाएगा। रजिस्ट्रेशन फार्म पर सभी जरूरी जानकारी दर्ज करें।

मेरी फसल मेरा ब्योरा में ऑनलाइन फॉर्म कैसे भरे

  • फार्म को चार चरण में भरा जाएगा। पहले चरण में किसान पंजीकरण से संबंधित कॉलम को भरना होगा।
  • दूसरे चरण में फसलों का विवरण देना होगा। फसल से जुड़ी सभी तरह की जानकारी फार्म पर दर्ज करना होगा।
  • तीसरे चरण में बैंक विवरण देना होगा। किसान बैंक अकाउंट नंबर लिखेंगे। दूसरी जरूरी जानकारी भी दर्ज करना होगा।
  • चौथे और अंतिम चरण में मंडी और आढ़ती का विवरण देना होगा। फार्म पर इससे जुड़ी जानकारी दर्ज करना होगा।

सबमिट बटन पर प्रेस करें

  • फार्म पर सभी जरूरी जानकारी दर्ज करने के बाद सबमिट बटन पर प्रेस कर सकते हैं। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • किसानों को रजिस्ट्रेशन आईडी और पासवर्ड दिया जाएगा, जिसकी मदद से वे पोर्टल पर लॉगइन कर सकते हैं।
  • किसान इसका प्रिंट आउट निकालकर रख सकते हैं। भविष्य में संबंधित विभाग या अधिकारियों को दिखाया जा सकता है। 

मेरी फसल मेरा ब्योरा के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाणपत्र
  • जमीन के कागजात
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

60 फीसदी किसानों ने कराया पंजीकरण

हरियाणा सरकार ने 7 अप्रैल को मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल को दोबारा खोल दिया है। किसान इस पोर्टल के जरिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। संबंधित विभाग के मुताबिक प्रदेश में 60 फीसदी किसान इस पोर्टल के जरिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। बचे हुए 40 फीसदी किसान भी पंजीकरण करा सकते हैं। उनकी सुविधा को ध्यान में रखकर ही पोर्टल को दोबारा शुरू किया गया है।

मेरी फसल मेरा ब्योरा प्रोत्साहन राशि मिलेगी

सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन में फसल की खरीद की जानकारी भी दी गई है। बताया गया है कि इस बार फसल खरीद प्रक्रिया जून तक चलेगी। खास बात यह है कि केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश के मुताबिक राज्य सरकारें किसानों को प्रोत्साहन राशि भी प्रदान करेंगी। यह निर्णय देश में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस को ध्यान में रखकर लिया गया है।

Anand Sivastava